Friday, 11 August 2017

दोस्तों का साथ हो अगर ज़िंदगी बहुत खूबसूरत बन जाती है

यूँ ही चलें दो दिन अपने साथ बिताने
कुछ यारों की सुनने
कुछ मन की उनको सुनने ,
खुश नसीब हैं
जो आज के दौर में भी
ऐसे दोस्त नसीब हैं
वरना ज़िंदगी की असली महक के आनंद से हम वंचित रह जाते
तारों की छाओं में बैठ कर भी चाँदनी का
अहसास नही कर पाते
तब केवल तस्वीरों में हम मुस्कुराते
अब तस्वीरें भी हमारी मुस्कुराती हैं
दोस्तों का साथ हो अगर
ज़िंदगी बहुत खूबसूरत बन जाती है

No comments:

Post a Comment