Sunday, 30 July 2017

याद नही वो दिन कब माँ को गले लगा कर कहा

याद नही वो दिन
कब माँ को गले लगा कर कहा
माँ तू ही है मेरा जहाँ ,

माँ आज भी यही कहती है
तेरी खुशी में है मेरी रज़ा
तुझमे बस्ता है मेरा जहाँ ...............

No comments:

Post a Comment